Skip to main content

Impact of Protest: किसान आंदोलन ने बढ़ाई टिकैत की शोहरत, ट्वीटर पर फॉलोवर्स की संख्या डेढ़ लाख पहुंची, फेसबुक पर भी रीच बढ़ी

डिजिटल डेस्क, गाजीपुर बॉर्डर। गाजीपुर बॉर्डर पर चल रहे किसान आंदोलन में राकेश टिकैत एक उभरता हुआ चेहरा हैं। टिकैत आंदोलन को पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश से निकालकर देश के दूसरे हिस्सों में ले जाने की कोशिश कर रहे हैं। हाल ही के दिनों में बढ़ती लोकप्रियता का टिकैत बखूबी इस्तेमाल कर रहे हैं। हालांकि जमीन से लेकर शोशल मीडिया तक टिकैत का नाम होने लगा है। लोगों में उनके प्रति संवेदना तो है ही साथ ही टिकैत को भविष्य में किसानों का बड़ा नेता भी माना जा रहा है।

आंखों से गिरे आंसुओं ने सोशल मीडिया पर बढ़ाए फॉलोवर्स
राकेश टिकैत के सोशल मीडिया पर काफी फॉलोवर्स बढ़ चुके हैं। दरअसल 27, 28 जनवरी की रात टिकैत की आंखों से गिरे आंसुओं ने किसान आंदोलन को मजबूती तो दी ही है साथ ही उनकी लोकप्रियता पर भी इसका असर हुआ। जिसका जीता जागता उदाहरण शोशल मीडिया पर उनके फॉलोवर्स बयां कर रहे हैं।

ट्वीटर पर फॉलोवर्स की संख्या डेढ़ लाख पहुंची, फेसबुक पेज की पोस्ट तीन करोड़
गणतंत्र दिवस के दिन के आसपास टिकैत के करीब 4 हजार फॉलोवर्स थे, लेकिन कुछ ही दिन पहले उनका ट्वीटर अकाउंट वेरिफाइड हुआ और फॉलोवर्स की संख्या करीब डेढ़ लाख हो गई है। वहीं फेसबुक पेज की पोस्ट तो तीन करोड़ लोगों तक पहुंच चुकी है, यही वजह है कि राकेश टिकैत पश्चिमी उप्र से निकलकर उत्तरी भारत के बड़े किसान नेता बनते जा रहे हैं।

10 दिन पहले बनाए इंस्टा अकाउंट पर फॉलोवर्स की संख्या 45 हजार 
टिकैत के प्रति जनता का प्यार देख, उनके सहयोगी को इंस्टाग्राम अकाउंट बनाना पड़ा, जिस पर चंद दिनों में करीब 45 हजार फॉलोवर्स हो चुके हैं। भारतीय किसान यूनियन के मीडिया प्रभारी धर्मेंद्र मलिक ने बताया कि जिस वक्त ये आंदोलन शुरू हुआ था, उस वक्त करीब 3 से 4 हजार फॉलोवर्स थे, लेकिन अब उनके शोशल मीडिया पर लाखों लोग जुड़ चुके हैं। उन्होंने आगे बताया कि, करीब 10 दिन पहले ही इंस्टाग्राम अकाउंट बनाया था, जिस पर करीब 45 हजार लोगों ने फॉलो कर चुके हैं।

सोशल मीडिया अकाउंट से हर एक भाषण को लाइव प्रस्तुत किया जाने लगा
हालांकि टिकैत का सोशल मीडिया अकाउंट इक्का दुक्का लोग ही संभालते हैं, बढ़ती लोकप्रियता को देखते हुए पहले के मुकाबले अब ज्यादा पोस्ट की जाती है, साथ ही उनके सोशल मीडिया अकाउंट से हर एक भाषण को लाइव प्रस्तुत किया जाने लगा है। इसके अलावा राकेश टिकैत जहां भी शिरकत कर रहे हैं, लोग उनके साथ सेल्फी खिंचाने की होड़ लगाने लगते हैं।

उप्र, हरियाणा, मप्र से लेकर महाराष्ट्र तक में पंचायत करेंगे टिकैत
इस महीने राकेश टिकैत उप्र, हरियाणा, मप्र से लेकर महाराष्ट्र तक में पंचायत करेंगे। चरखी दादरी, जींद, बागपत और कुरुक्षेत्र में राकेश टिकैत किसान पंचायत कर चुके हैं, लेकिन उनकी लोकप्रियता इतनी बढ़ चुकी है, आगामी दिनों में देश भर में होने वाली पंचायतों के लिए उनके पास फोन आना शुरू हो चुके हैं। आगामी दिनों में होने वाली पंचायतों में लोग टिकैत को बुलाना चाहते हैं और यही कारण है कि अभी तक सभी जगहों पर उनके द्वारा हामी नहीं भरी गई है, लेकिन अगले कुछ दिनों में टिकैत ने पंचायत में जाने का फैसला लिया है।

करीब दो दर्जन से अधिक किसान पंचायत करेंगे टिकैत
हाल ये हो गया है कि अब राकेश टिकैत गाजीपुर बार्डर पर कम दिखाई दे रहे हैं, बल्कि किसान पंचायत में ज्यादा शिरकत कर रहे हैं। अंदाजा इस बात से भी लगया जा सकता है कि फरवरी के महीने में उनकी उप्र, मप्र, राजस्थान से लेकर महाराष्ट्र तक में करीब दो दर्जन से अधिक किसान पंचायत होने वाली हैं, टिकैत इन पंचायतों के जरिए किसान आंदोलन को पूरे भारत का बनाना चाहते हैं।



.Download Dainik Bhaskar Hindi App for Latest Hindi News.
.
...
Impact of movement: The peasant movement increased the fame of Tikait
.
.
.


source https://www.bhaskarhindi.com/national/news/impact-of-movement-the-peasant-movement-increased-the-fame-of-tikait-214212

Popular posts from this blog

Parliamentary panel on Information Technology summons Facebook, Google on June 29

India’s Permanent Mission at the United Nations, on June 20, 2021, had clarified that the new Information Technology rules introduced by India have been ‘designed to empower the ordinary users of social media'. source https://www.jagranjosh.com/current-affairs/parliamentary-panel-on-information-technology-summons-facebook-google-on-june-29-1624865354-1